- राष्ट्रीय

Lockdown 5 Guideline : नई गाइडलाइन में किन चीजों पर जारी रहेगी पाबंदी, क्‍या खुलेंगे

नई दिल्‍ली : एजेंसी : Lockdown 5 Guideline:  गृह मंत्रालय ने लॉकडाउन 5 के लिए नई गाइडलाइन्स जारी कर दी हैं। देशभर के कंटेनमेंट जोनों में लॉकडाउन 30 जून तक बढ़ा दिया गया है। आतिथ्य सेवाएं, होटल, मॉल और 8 जून से खुल जाएंगे। केद्रीय गृह मंत्रालय ने शनिवार को लॉकडाउन की जगह ‘अनलॉक1’ की गाइडलाइन जारी की। इसमें 31 मई को खत्म हो रहे लॉकडाउन 4 के बाद देशव्यापी रियायतें हैं। कंटेनमेंट जोन के बाहर के प्रतिबंधित क्षेत्रों को एक जून के बाद चरणबद्ध तरीके से खोला जाएगा। 8 जून से धार्मिक स्थल, होटल, रेस्त्रां, मॉल और आतिथ्य सेवाएं शुरू हो जाएंगे।

धार्मिक स्थल खोलने की अनुमति

नई गाइडलाइन के अनुसार मंदिर- मस्जिद – गुरुद्वारा – चर्च खोल दिए जाएंगे। स्कूल-कॉलेज जुलाई से खोले जा सकते हैं।

कई राज्य के अनुसार, मॉल भी जल्‍द खोले जाएं। उन्हें चरणबद्ध तरीके से खोला जाएगा। इसके लिए शारीरिक दूरी और मास्क पहननना जरूरी होगा। स्कूल-कॉलेज दूसरे फेज में जुलाई से खोले जा सकते हैं।

जारी रहेगा रात का कर्फ्यू  

रात का कर्फ्यू जारी रहेगी। जो जरूरी चीजें हैं, उनके लिए कोई कर्फ्यू नहीं होगा। रात को 9 बजे से सुबह 5 बजे तक अब नाइट कर्फ्यू रहेगा। अभी तक ये शाम 7 से सुबह 7 बजे तक था। स्कूल-कॉलेज और शैक्षणिक संस्थान खोले जाने पर फैसला सरकार बाद में लेगी।

एक राज्‍य से दूसरे राज्‍य जाने पर रोक हटी 

एक से दूसरे राज्य में जाने का प्रतिबंध हटा लिया गया है। राज्य में भी एक जिले से दूसरे जिले में जा सकेंगे, लेकिन शारीरिक दूरी का पालन करना होगा। कहीं आने जाने से पहले किसी की कोई इजाजत लेने की जरूरत नहीं होगी।

इन पर निर्णय नहीं

अंतरराष्ट्रीय उड़ानें, मेट्रो ट्रेन, सिनेमा हॉल, जिम, राजनीतिक एकत्रीकरण आदि के बारे में स्थिति देखकर निर्णय लिया जाएगा। स्कूल, कॉलेज, शैक्षिक संस्थान, कोचिंग संस्थान आदि खोने जाने का निर्णय राज्य सरकारों से विचार विमर्श के बाद लिया जाएगा।

राज्यों के मुख्यमंत्रियों से हुई चर्चा के बाद गृहमंत्री अमित शाह ने शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की थी। इस मुलाकात में गृहमंत्री ने मुख्यमंत्रियों के विचारों और सुझावों से पीएम मोदी को अवगत कराया।

स्‍थानीय स्‍तर पर छूट चाहते हैं राज्‍य  

दिलचस्प बात यह है कि अब तक पीएम मोदी ही प्रत्येक लॉकडाउन बढ़ाने से पहले वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए देश के मुख्‍यमंत्रियों से बातचीत की। यह पहली बार था जब गृह मंत्री अमित शाह ने मुख्‍यमंत्रियों से व्यक्तिगत रूप से बात की थी। गृह मंत्रालय के सूत्रों का कहना है कि अधिकांश सीएम लॉकडाउन को और आगे बढ़ाना चाहते हैं, लेकिन राज्यों के लिए जमीनी स्थिति के आधार पर छूट संबंधी दिशा- निर्देश तैयार करने के लिए अधिक स्वायत्तता चाहते हैं। हालांकि, सीएम इस बात पर सहमत थे कि केंद्र एक व्यापक नीतिगत रूपरेखा तय कर सकता है। उम्मीद है कि केंद्र सरकार अगले दो दिनों में फैसले की घोषणा करेगा, क्योंकि ऐसे संकेत दिए गए हैं कि लॉकडाउन को 15 जून तक बढ़ाया जाएगा, लेकिन काफी छूट के बाद।

13 शहरों में है ज्‍यादा गड़बड़ी 

इस बारे में एक वरिष्ठ सरकारी अधिकारी ने बताया कि अगले चरण में केंद्र सरकार अपनी भूमिका सीमित कर पाबंदियों में ढील देने या सख्ती बढ़ाने का मामला राज्यों के हवाले करने पर विचार कर रहा है। हालांकि महाराष्ट्र, तमिलनाडु, गुजरात, दिल्ली, मध्य प्रदेश, बंगाल, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, पंजाब और ओडिशा में कोरोना से बुरी प्रभावित 30 नगरीय क्षेत्रों के लिए केंद्र राज्यों को पहले से चली आ रही पाबंदियां बरकरार रखने की सलाह देगा।

देश में कोरोना के 80 फीसद मामले इन्हीं नगरीय क्षेत्रों में हैं। इन 30 नगरीय क्षेत्रों में दिल्ली मुंबई, कोलकाता व चेन्नई समेत 13 शहरों की स्थिति और भी गड़बड़ है। इनके शहरों के डीएम और नगर प्रशासकों के साथ कैबिनेट सचिव राजीव गौबा ने आनलाइन बैठक कर स्थिति का जायजा लिया है।

उधर, एक न्यूज चैनल से बातचीत में केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि लॉकडाउन 5.0 बिल्कुल साधारण होगा। इसमें कुछ ही इलाकों में पाबंदियां लगाई जाएंगी। बाकी जन जीवन को खोला जाएगा। उन्होंने कहा कि ये समय हमेशा ऐसा ही चलेगा। लोगों को काफी हद तक छूट दे दी गई है और अब उम्मीद है कि सामान्य जीवन होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.