- नागपुर समाचार

वीएसएसएस की सिन्धी बोली के प्रति जागरूकता

 

महाराष्ट्र अध्यक्ष प्रताप मोटवानी ने घोषित किये गीत प्रतियोगिता के परिणाम

नागपुर।  पूरे विश्व के सिंधी समाज का प्रतिनिधित्व करने वाले संगठन विश्व सिंधी सेवा संगम महाराष्ट्र अध्यक्ष प्रताप मोटवानी के कुशल नेतृत्व तथा मार्गदर्शन में विश्व सिन्धी सेवा संगम महिला नार्थ जोन नागपुर की अध्यक्ष भूमिका प्रेमानी के सानिध्य मे आठ माह से चल रही सिन्धी कक्षा मे बच्चों को अपनी मातृभाषा सिन्धी बोली के प्रति जागरूकता लाने के लिये, सिन्धी कक्षाओं का आयोजन किया जा रहा है।

जिसमें उनकी सहयोगी कवयित्री वीना आडवानी ‘तन्वी’ और घनश्याम दात्रे द्वारा बच्चों को सिन्धी लिखना और पढ़ना सिखाया जा रहा है। साथ ही कक्षा मे गुरु घनश्याम दात्रे द्वारा बच्चों को धार्मिकता से भी जोड़ते हुए भजन, पलों आदि सिखाया जा रहा है। बच्चों के लिये बहुत सी सिन्धी प्रतियोगिता का आयोजन भी किया जाता है।

कक्षा मे वीना द्वारा मोबाइल पर हिन्दी और सिन्धी टाईपिंग कर बच्चों को समझाया जाता है। इस सिंधी कक्षा की पूरी होस्टिंग भूमिका प्रेमानी द्वारा की जाती है।जो बच्चे सिंधी बिल्कुल नहीं जानते थे वो आज बहुत ही अच्छी सिंधी बोल प्रतियोगिता मे बढ़चढ़ के हिस्सा ले रहे हैं। ये बच्चे भारत देश के अलग-अलग प्रांतो से जुड़ रहे हैं।

महाराष्ट्र अध्यक्ष प्रताप मोटवानी ने नार्थ जोन की टीम की सराहना कर सिंधी बोली हेतु बेहतर कार्य करने पर नार्थ टीम को वीएसएसएस अवार्ड देने की घोषणा की, साथ मे सिंधी सीखने वाले घनश्याम दात्रे को भी अवार्ड देकर सम्मानित करने की घोषणा की।

वर्तमान मे आयोजित सिंधी गीत प्रतियोगिता का आयोजन किया गया जिसमें जजमेंट महाराष्ट्र अध्यक्ष प्रताप मोटवानी घनश्याम दात्रे, वीना आडवानी द्वारा किया गया। जिसमें प्रथम स्थान पाया नागपुर के धैर्य दात्रे ने, द्वितीय स्थान यूपी बरेली की दो बहनों दिलकक्षा लालवानी और यशिका लालवानी को प्राप्त हुआ। और तृतीय स्थान कटनी के परेश जगवानी ने पाया।

महाराष्ट्र अध्यक्ष प्रताप मोटवानी ने विजेताओं की घोषणा की बच्चों ने सिंधी सिख सिंधी भजन गाकर मंत्रमुग्ध किया। कार्यक्रम का संचालन भूमिका प्रेमानी और आभार वंदना आडवाणी ने किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.