- Breaking News, नागपुर समाचार, स्वास्थ 

नागपूर समाचार : जमाअत ए इस्लामी हिंद नागपुर का मेडिकल कैंप और विवाह पूर्व प्रशिक्षण कार्यशाला संपन्न

जमाअत ए इस्लामी हिंद नागपुर का मेडिकल कैंप और विवाह पूर्व प्रशिक्षण कार्यशाला संपन्न

नागपुर समाचार : जमाअत ए इस्लामी हिंद नागपुर साउथ ने मेडिकल सर्विस सोसायटी नागपूर के संयुक्त तत्वावधान में भव्य निशुल्क मेडिकल कैंप का आयोजन “सेंट्रल एवेन्यू , तिड़के भवन चौक पर स्थित द मेट्रो मल्टीस्पेशलिटी क्लिनिक” में किया था। इंचार्ज इकबाल शेख ने बताया कि इस निःशुल्क मेडिकल कॅम्प मे 240 रोगियों का साधारण, बाल, चर्मम, स्त्री, हृदय एवं मानसिक रोगों का निशुल्क परीक्षण, डायग्नोवा डायग्नोस्टिक सेंटर की ओर से 40 निशुल्क ब्लड शुगर की जांचें और नागपूर महानगर पालिका के सहयोग से 109 का मुफ्त कोविड टीकाकरण किया गया।

कैंप का उद्घाटन गणेश पेठ पुलिस स्टेशन के थाना प्रभारी रियाज सुभाष मलोनी और नागपुर महानगरपालिका के टीकाकरण इंचार्ज डॉ एम ख़्वाजा के हस्ते हुआ। हाईकोर्ट मेडिकल इंचार्ज डॉ सिद्दीक अहमद, मां फाउंडेशन के अध्यक्ष सत्तू चांड़क, नागपुर महानगर पालिका के मेडिकल ऑफिसर डॉ संजय चिलकर और जिला मुख स्वास्थ्य, सिविल सर्जन आफिस के एनसीडी नोडल अधिकारी डॉ दानिश इक़बाल कैंप के विशेष अतिथि थे।

डॉ आसिफ कुरैशी, डॉ मुस्तफा अली, डॉ नदीम बेग, डॉ आलिया अमरीन, डॉ शेख रमीज़ राजा, डॉ रमीज़ शेख आदि चिकित्सकों ने अपनी सेवाएं दीं।  

नागपुर पश्चिम की ओर से एक कार्यक्रम युवाओं और नवविवाहित जोड़ों के लिए “विवाह पूर्व प्रशिक्षण कार्यशाला” जाफर नगर, टीचर्स काॅलोनी के मर्कज़े इस्लामी हाॅल में आयोजित कर विभिन्न पहलुओं पर चर्चाएं की गईं।

समृद्ध परिवार (सुखी परिवार) वही माना जाता है जिसके पास साधनों और संसाधनों की कमी नहीं होती। धन की प्रचुरता होती है लेकिन यह सुकून की गारंटी नहीं दे पातीं। परिवार तभी सुखी रह सकता है जब पति-पत्नी के बीच संबंध बहुत सुखद और उनमें आपसी समझ बहुत अच्छी हो। संबंधों में सुख का आनंद लाने, बनाने तथा संबंधों में क्षति पहुंचाने और बिगड़ने वाले कारकों पर प्रमुखता से प्रकाश डाला गया।

विवाह सुकून और प्रेम के धन की प्राप्ति के लिए किया जाना चाहिए। पैगंबर हज़रत मोहम्मद सअव ने फ़रमाया कि “तुम में सबसे अच्छा वह है जो अपने घर वालों के लिए सबसे अच्छा है”। कार्यशाला में विवाह के सकारात्मक, नकारात्मक उद्देश्यों और रिश्तों को मधुर बनाने के लिए मूल्यवान सुझाव दिए गए। 

वैवाहिक संबंध बिगड़ने पर संचार, संवाद कभी भी बंद नहीं करना चाहिए। शादी का आधार तथा मैच मेकिंग आदि पर विस्तृत प्रकाश डाला गया। कार्यक्रम में फरहत कुरैशी ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। वे प्राइवेट लिमिटेड में एजीएम के रूप में काम कर रही हैं। उन्हें सामाजिक परियोजनाओं, परामर्श और सीएसआर गतिविधियों में 20 वर्षों का अनुभव है। उन्हें उत्कृष्ट कार्यों के प्रति सम्मानित और पुरस्कृत किया गया है। हाफ़िज़ मोहम्मद शाकिरुल अकरम फ़लाही, लेक्चरर मोहम्मद जावेद शेख ने भी विचार व्यक्त किए। मंच संचालन अब्दुल मजीद ने किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.