- Breaking News, नागपुर समाचार

नागपूर समाचार : गीता जयंती पर नव साहित्य मासिक ई पत्रिका के नवम्बर अंक का शानदार विमोचन 

गीता जयंती पर नव साहित्य मासिक ई पत्रिका के नवम्बर अंक का शानदार विमोचन

नागपूर समाचार : गीता जयंती और मोक्षदा एकादशी के शुभ दिवस पर बिजनौर (उ.प्र.) के अति प्रतिष्ठित साहित्यिक पटल ‘नव साहित्य परिवार भारत’ की “नव साहित्य मासिक ई पत्रिका” के अंक 4 माह दिसम्बर 2021 का आनलाइन विमोचन सरल हृदय वरिष्ठ कवि, साहित्यकार, चिन्तक, प्रखर वक्ता, श्रेष्ठ संचालक, शिक्षक एवं “ओजस मागधी मंच” के संस्थापक/अध्यक्ष डा. हेरम्ब कुमार मिश्र जी के कर कमलों द्वारा मगध की पवित्र धरा से दिनांक 14.12.2021 की प्रभात बेला में भव्यता के साथ संपन्न हुआ।

विमोचन के अवसर पर डॉ.हेरम्ब जी ने नव साहित्य परिवार भारत और उसके संस्थापक एवं पत्रिका के संपादक आ.अमित कुमार बिजनौरी जी की मेहनत, समर्पण, हौसले और उनकी दूरगामी सोच की भूरि भूरि प्रसंशा किया। मंच के तकनीकी अधिकारी आ. हंसराज सिंह “हंस” जी की भी उन्होंने मुक्त कण्ठ से प्रसंशा किया और कहा कि श्री “हंस” जी का साहित्य के प्रति समर्पण और सेवा भाव तथा सभी के प्रति निःस्वार्थ सहयोग की भावना सराहनीय है। सार्थक और सृजनात्मक प्रयास के लिए मंच और पत्रिका के पदाधिकारियों की भी उन्होंने हौसला अफजाई की।

मंत्रोच्चार के साथ विमोचन प्रारम्भ करते हुए उन्होंने जहाँ पत्रिका के आवरण से लेकर पृष्ठ भाग तक की सामग्री पर विस्तार से प्रकाश डाला और पत्रिका की गुणवत्ता की सराहना किया, वहीं संपादक मंडल का भी मनोबल बढ़ाया और शामिल रचनाकारों को उनकी उत्तम रचनाओं के लिए साधुवाद देते हुए रचनाओं पर अपने संक्षिप्त किंतु प्रेरक,सारगर्भित विचार भी प्रकट किए।साथ ही नव साहित्य परिवार, आ.अमित बिजनौरी और आ.सुधीर श्रीवास्तव के प्रति विमोचन करने हेतु सम्मान देकर मान सम्मान बढ़ाने के लिए आभार प्रकट किया।

नव साहित्य परिवार भारत की चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि बिजनौर की उर्वर धरती ने जहाँ कई नामी गिरामी संपादक दिये हैं वहीं पर यह “नव साहित्य परिवार भारत” पटल जिस तीव्र गति से अपनी छाप छोड़ते हुए आगे बढ़ रहा है, उससे साफ जाहिर है कि संरक्षक आ. सुधीर श्रीवास्तव जी, आ.अमित कुमार बिजनौरी जी और आ. हंसराज सिंह “हंस” जी का अद्भुत सामंजस्य निश्चित ही अपने हर लक्ष्य को प्राप्त करता हुआ आगे बढ़ता ही रहेगा। उन्होंने आ. सुधीर श्रीवास्तव को आधुनिक हिंदी के भीष्म पितामह की संज्ञा दी और कहा कि सहयोग और समर्पण की ऐसी मिसाल कम ही मिलतीहै। महासचिव डा.मोहित कुमार जी,.सलाहकार आ.नरेश द्विवेदी शलभ जी, संरक्षक आ.सुधीर श्रीवास्तव जी,आ.अरविंद कुम जी और अन्य सहयोगियों की भी उन्होंने दिल खोलकर प्रसंशा की।

विमोचन के शुभ अवसर पर संरक्षक आ.सुधीर श्रीवास्तव जी, संस्थापक एवं संपादक आ.अमित कुमार बिजनौरी जी, पत्रिका के तकनीकी अधिकारी आ.हंसराज सिंह “हंस” जी, महासचिव डा.मोहित कुमार जी, सलाहकार आ.नरेश द्विवेदी शलभ जी, आ.दीपांजली दूबे जी, आ.बाबा कल्पनेश जी, आ.सत्य प्रकाश पाण्डेय जी, आ. माधुरी निगम जी,आ.विमला मिश्रा, आ.अशोक पाल, आ. सुभाष सिंह, आ. शैलेष सिंह, आ. सुभाष चंद्र चौरसिया ‘हेमूबाबू’, आ.नागेन्द्र नाथ गुप्ता जी, आ.हर किशोर परिहार जी,आ.सरिता त्रिपाठी जी, आ.गिरीश पाण्डेय जी, आ.कवि दिनेश विकल जी, आ.बबीता कुमारी जी, आ.ज्ञानेश्वर आनन्द ज्ञानेश जी, आ. आ.कुलदीप रुहेला जी,आ. अमरजीत सिंह जी, आ.संदीप खेरा जी, आ.ओम प्रकाश श्रीवास्तव जी सहित अनेकों प्रतिष्ठित कवियों, कवयित्रियों एवं साहित्यकारों की गरिमामयी उपस्थित ने पटल परिवार की हौसला अफजाई करते हुए उत्साहवर्धन किया।

कार्यक्रम के अन्त में तकनीकी अधिकारी आ.हंसराज सिंह “हंस” जी ने डा.हेरंब जी को पत्रिका का विमोचन कर पटल और परिवार को गौरवान्वित करने में, सम्पादक मण्डल का मनोबल बढ़ा कर उत्साहित करने के लिए हार्दिक धन्यवाद ज्ञापित किया साथ ही साथ उपस्थिति समस्त साहित्य मनीषियों का नव साहित्य परिवार भारत की ओर से आभार प्रकट करते हुए धन्यवाद प्रदान किया और विश्वास दिलाया कि “नव साहित्य मासिक ई पत्रिका” के हर अंक के साथ कुछ न कुछ नया और अलग करने का प्रयास जारी रहेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.