- मिला जुला 

रामटेक का रिआन अस्पताल गरीबों के लिए वरदान

रामटेक समाचार : देवलापार के निमटोला निवासी 65 वर्षीय बेबी रामजी भलावी पिछले दो महीने से अपने परिवार से शिकायत कर थी कि उसे पेट में सूजन और दर्द हो रहा है. कोरांना के चलते घर से बाहर निकलने के डर और खराब आर्थिक स्थिति से कई घरेलू उपचार किए लेकिन दर्द ठीक नहीं हो रहा था.

साथ ही असहनीय दर्द हो रहा था. एक पड़ोसी के अनुसार रामटेक के डॉ. बोरकर को दिखाने की सलाह दी गयी. सोनोग्राफी में पहली नजर में टयूमर का डॉ बोरकर को पता चला. इसलिए उनका सिटी स्कैन कराया गया. पता चला कि उनके पेट में ट्यूमर है. देरी के कारण, 25 मई को बिना अधिक समय बर्बाद किए सर्जरी करने का निर्णय लिया गया. सर्जन डॉ. राम कटारे, डॉ. प्रदीप बोरकर और मेडिकल टीम को सर्जरी के बीच 30 से 35 सेमी आकार का 7 किलो वजन के गोले को बाहर निकालने में कामयाब रहे. इससे भलावी परिवार ने राहत की सांस ली.

उल्लेखनीय है की बेबी भलावी की आर्थिक स्थिति को देखते हुए डॉ. बोरकर ने मानवीय संबंध बनाए रखते हुये सर्जरी के लागत पर भारी छूट दी. 29 मई को बेबी सकुशल घर लौटी. डॉ बोरकर हमेशा पैसे से ज्यादा मरीज की जान बचाने को महत्व देते हैं. बेबी भलावी के परिवार को लगता है कि रिआन मल्टी-स्पेशलिटी अस्पताल वहां के अच्छे डॉक्टर, उनके अच्छे स्वभाव और मानवीय व्यवहार के कारण उनका अस्पताल ग्रामीण क्षेत्र के गरीबों के लिए वरदान है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.