- कोविड-19, नागपुर समाचार

इस्कॉन के अन्नामृत फाउंडेशन द्वारा कोविड – 19 पेशंट एवं संबंधियों को भोजन वितरण

नागपुुुर: अंतरराष्ट्रीय कृष्ण भावनामृत संघ (इस्कॉन) की नॉनप्रॉफिट संस्था अन्नामृत फाउंडेशन द्वारा मेडिकल कॉलेज एवं राष्ट्रसंत टुकड़ोंजी महाराज कैंसर हॉस्पिटल के मरीजों, कोविड-19 मरीजों, एवं उनके संबंधियों को सुबह का नाश्ता एवं लंच दिया जा रहा है।

अन्नामृत फाउंडेशन नागपुर के चेयरमैन डॉ. श्यामसुंदर शर्मा ने बताया कि इस भोजन वितरण कार्यक्रम का विधिवत उद्घाटन नागपुर के सुप्रसिद्ध रेडियोलॉजिस्ट एवं सारड़ा स्कैन के संचालक डॉ. मधुसूदन सारड़ा, एस. जी. पाटिल एंड कंपनी के महेश झाड़े एवं सालासर ट्रेडिंग कंपनी के महेश डालिया के द्वारा मरीजों के रिश्तेदारों को अपने हातों से नास्ता परोस कर किया। नास्ते में प्रतिदिन अलग अलग वैरायटी जैसे पौष्टिक पोहा, मिक्स वेज उपमा, मिक्स वेज दलिया खिचड़ी इत्यादि दी जा रही है।

जिन परिवारों के सभी सदस्यों को कोरोना हो जाता है तथा उनके घरों में भोजन पकाने वाला कोई नही है ऐसे परिवार के सभी सदस्यों के लिये अन्नामृत फॉउंडेशन उनके घरों में भोजन पहुंचाता है।
इस कार्यक्रम को सफल बनाने के लिये जो दानदाता सहयोग कर रहे है वे है महेश झाड़े पाटिल, महेश डालिया, डॉ मधुसूदन सारडा,. मैथिली सुब्रमण्यम ( सिंगापुर), सीए कुणाल बुधराजा, प्रो. विश्रुत लांडगे (VNIT), रेणु एवं राकेश चोटिया बेल्लारी (कर्नाटक), वेदांत बजाज (कनाडा), एड. आशीष मेहड़िया, फुलर्टन इंडिया लिमिटेड, अरुण सिंघानिया, चेतना एवं हेमंत शर्मा (नवी मुंबई), पद्मावती नायडू, मोहम्मद जावेद खान, अभिजीत सिंह, मिहिर लौंढे USA, महेश लाहोटी, संजय राठी, दिनेश मानधना, डॉ. विद्यागौरी दशपुत्रे, रमाकांत फतेहपुरिया, सुनील तुलसियानी, हेमंत हाड़ा, साकिब भाई पारेख,रविशंकर गुरुमूर्ति (चेन्नई), एस. जयशंकर (मुम्बई) इत्यादि अनेक दानदाता इस पुण्य कार्य सम्मिलित है।

डॉ. शर्मा ने सभी से अपील की है कि ज्यादा से ज्यादा लोग इस पुण्य कार्य मे जुड़ें, इसमें किसी भी तरह का सहयोग करने लिये अन्नामृत फाउंडेशन नागपुर के मैनेजर राजेंद्रन रामन से मोबाइल न. 9823422267 पर सम्पर्क कर सकतें है।

एक दान दाता अपना नाम प्रकाशित नही करने की शर्त पर प्रतिदिन 600 थाली भोजन बनवाकर स्वयं नागपुर के दूसरे भाग में वितरित करतें है।

इस प्रकार प्रतिदिन 1000 से 1100 लोगों को भोजन करवाया जा रहा है। इस भोजन को कलमना मार्केट के पास, रामानुज नगर स्थित अनामृत फाउंडेशन के सेंट्रलाइज किचन में तैयार किया जा रहा है।

इस्कॉन संस्थापकाचार्य ए. सी. भक्ति वेदांत स्वामी श्रील प्रभुपाद के प्रिय शिष्य श्री ल लोकनाथ स्वामी महाराज की प्रेरणा से बनी केंद्रीयकृत रसोई का नाम श्रीमती स्वर्णलता एंड श्री गोविंद दास सर्राफ (तुमसरवाले) सेंट्रलाइज्ड किचन है। इसको अजय सर्राफ सत्यनारायण नुवाल, अजय संचेती आनंद संचेती, रामरतन सारड़ा, रमेश रांधड़, शिव किशन अग्रवाल, हिंगणघाट के बसंत मोहता एवं अरुण मोहता, रामस्वरूप सारड़ा, सुरेश अग्रवाल, मोहन अग्रवाल, सुभाष जैन, श्याम अग्रवाल, प्रकाश सोनी, दिलीप अग्रवाल, डॉ. चंद्रशेखर पाकमोड़े, नई दिल्ली के अशोक गर्ग, महेश भारुका (कामठी), एड. रमाशंकर अग्रवाल (कामठी), एड. श्याम देवानी, एड. आनंद परचुरे, नृसिंह दास मंत्री, डॉ. मधुसुदन सारड़ा, अनिल तनेजा, एड. आशीष मेहाड़िया रतन लाल लाहोटी, आनंद मोहता, पवन चोखानी आदि कई दान दाताओं की मदद से इस अत्याधुनिक किचन का निर्माण कार्य हुआ। मोयल लिमिटेड का सहयोग सराहनीय है। इन्होंने भोजन वितरण के लिये एक गाड़ी दान में दी तथा जरूरतमंद लोगों के भोजन की व्यवस्था के लिये बड़ी राशि भी दान में दी।

इस किचन द्वारा अब तक कोविड19 से प्रभावित कुल पांच लाख चौतीस हजार एक सौ तेरह (5,34,113) जरूरतमंद लोगों को भोजन करवाया गया है।
संपूर्ण भारत वर्ष के 15 शहरों में अन्नामृत फाउंडेशन द्वारा दो करोड़ इक्कीस लाख छपन हजार सात सौ दो (2,21,56,702) जरूरतमंद लोगों को भोजन करवाया गया है। इसमें नागपुर केंद्र द्वारा वितरित भोजन शामिल है।

अन्नामृत नागपुर के प्रोजेक्ट डायरेक्टर्स राजेंद्रन रामन, भगीरथ दास, प्रवीण साहनी एवं अन्य स्टाफ केशव पोपलघाट, नितेश जमभुतकर, सागर प्रभु इत्यादि सभी लोग इस कार्यक्रम को सफल बनाने में जुटे है।

– डॉ. श्यामसुंदर शर्मा
चेयरमैन, अन्नामृत फॉउंडेशन, नागपुर

Leave a Reply

Your email address will not be published.