- Breaking News, नागपुर समाचार

नागपूर समाचार : विश्व सिंधी सेवा संगम के महाराष्ट्र अध्यक्ष ने कार्य मे सफलता के बताएं राज

वीएसएसएस में सदस्यता बढ़ाने का किया आह्वान

नागपुर समाचार : पूरे विश्व के सिंधी समाज का प्रतिनिधित्व करने वाले संघठन विश्व सिंधी सेवा संगम के महाराष्ट्र अध्यक्ष और गत 32 वर्षों से महाराष्ट्र में व्यापारिक सामाजिक धार्मिक राजनीतिक और रेलवे कमेटी से जुड़े अनेको अवार्ड पाकर हुए गौरवांवित प्रताप मोटवानी ने 9 जनवरी को अंतराष्ट्रीय सिंधी सम्मेलन में पूरे विश्व मे प्रथम स्थान आने पर अपनी टीम की स्कूलिंग कर बताया कि किस तरह कार्य कर आप बेहद सफल हो सकते है। 

उन्होंने टीमों को बताया कि आपको पद मिलने के बाद निष्ठा और अपनी मेहनत से जुनून के साथ कार्य करना है। आप सभी मे अदभुत प्रतिभा छुपी है उसे बाहर लाये समाजहित में कार्य करने में संकोच नही करे उन्होंने बताया 2019 में जब वे महाराष्ट्र अध्यक्ष थे तब नागपुर और आस पास विश्व सिंधी सेवा संगम से कोई परिचित नही था पर दादा गोपालदास सजनानी, ग्रेट लायन डॉ राजू मनवानी, उषा दीदी सजनानी की प्रेरणा से आज 2021 तक हजारों प्रतिष्ठित भाई बहिन युवा टीम पूरे महाराष्ट्र में जुड़ गई है। 

गत 3 सालों में कोरोना के बावजूद 600 से ज्यादा एक्टिविटी हुई। खास कर बहिनो की टीम ने जबरदस्त काम किया युवा टीम भी बेहद सक्रिय रहे। आप अपनी मेहनत और इच्छाशक्ति से कोई भी असंभव कार्य कर सकते है। टीम लीडर ने सदैव विनम्र होना चाहिए और सभी को साथ लेने की क्षमता होनी चाहिए, अपने ईगो को दूर रख सभी से भाई चारा कर समाज हित मे काम करना चाहिए। मोटवानी ने संघठन के बारे में विस्तृत जानकारी दी और बताया कि 24 राज्यों में 72 देशों में वीएसएसएस संगठित होकर कार्य कर रहा है। 

मोटवानी ने कहा किसी से प्रतिस्पर्धा नही कर अपना बेस्ट कार्य करे तो सफलता शीघ्र मिलेगी, अपने साथियों की छोटी मोटी ग़लतियो को नजरअंदाज कर प्यार से उन्हें समझाए ताकि अगली बार गलती नही करे। मोटवानी ने बताया कि किसी भी संगठन की ताकत उनकी मेम्बरशिप होती है। फरवरी माह हम मेंबर बनाने का अभियान करेंगे, अगर सभी 50 सदस्य भी बनाये तो महाराष्ट्र में दस हजार सदस्य बन सकते है। सदस्यता शुल्क एक साल का 200 है जिसमे सदस्य को एक किट में उतनी ही लागत की सामग्री दी जाती है। 

युवाओं में 18 से 30 साल तक सदस्यता शुल्क कुछ भी नही है। अतः अधिकतम सदस्य बनाये। जब भी कोई प्रसंग या त्यौहार हो अपनी एक्टिविटी करे। समाजसेवा की एक्टिविटी में सिंधी संस्कृति को बढ़ावा देने, सिंधी बोली घर घर तक पहुँचाने का संकल्प करें। बुजुर्गों का सम्मान और परिवार में स्नेह बनाये रखे। किसी का भी दिल नही दुखाये, अपने से बड़े को पितातुल्य समांतर को भाई या बहिन और अपने से छोटों को बेटा बेटी समान मान कर सम्मान और व्यवहार करें।

इस अवसर पर महाराष्ट्र महिला टीम की अध्यक्ष डॉ भाग्यश्री खेमचंदानी, सुनीता जेसवानी साक्षी थारवानी, रीत रूपानी, शिल्पा तलरेजा, पूजा मोरयानी ने भी अपने अमूल्य विचार सांझा किये। सर्व श्रीमती किरण तोतलानी, अनिता नागवानी, मुस्कान थारवानी, आशा लालवानी, मीता चावला सहित पूर्व नागपुर महिला टीम अध्यक्ष अर्चना छाबरिया, वरिष्ट उपाध्यक्ष हितिशा मुलतानी, नागपुर डिस्ट्रिक महिला कार्याध्यक्ष वंशिका केसवानी, उपाध्यक्ष साक्षी लालवानी, 

महासचिव दिव्या जगुजा सहित वेस्ट नागपुर की अध्यक्ष विधी ग्वालानी और कंचन ग्वालानी तथा जलगांव जिल्हा अध्यक्ष जानवी परसवानी ने कई प्रश्न पूछे जिसका समाधान महाराष्ट्र अध्यक्ष प्रताप मोटवानी ने किया। स्कूलिंग का फेस बुक में लाइव प्रसारण किया गया जिसे पूरे विश्व मे हजारों की संख्या में देखा गया। सभी का आभार डॉ भाग्यश्री खेमचंदानी और रीथ रूपानी ने किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.