- Breaking News, कोविड-19, नागपुर समाचार

नागपूर समाचार : नागपुर रेलवे स्टेशन पर नहीं हो रही आरटीपीसीआर जांच

नागपुर रेलवे स्टेशन पर नहीं हो रही आरटीपीसीआर जांच 

नागपूर समाचार : मध्य रेलवे द्वारा 90 फीसदी ट्रेनों का परिचालन स्पेशल ट्रेन के रूप में शुरू कर दिया गया है। देशभर से हजारों यात्री रोज नागपुर रेलवे स्टेशन से शहर में दाखिल हो रहे हैं। इन यात्रियों को यात्रा के दौरान कोविड-19 नियमों का पालन करने के निर्देश दिए गए हैं। हकीकत में नागपुर रेलवे स्टेशन पर यात्रियों की आरटीपीसीआर रिपोर्ट की जांच नहीं हो रही। रेलवे प्रशासन द्वारा यात्रियों की आरटीपीसीआर-एंटीजन टेस्ट की जिम्मेदारी मनपा पर थोप दी गई है। विगत 2 माह से मनपा द्वारा भी रेलवे स्टेशन पर आरटीपीसीआर जांच बंद कर दी गई है। एंटीजन टेस्ट शुरू हैं। आंकड़ों के मुताबिक गत एक माह में नागपुर रेलवे स्टेशन पर 2175 यात्रियों की एंटीजन जांच की गई है।

पिछले 3 दिन में 197 यात्रियों की एंटीजन जांच की गई, जिसमें मंगलवार को एक यात्री कोरोना पॉजिटिव पाया गया। एमआईडीसी परिसर निवासी 25 वर्षीय यह युवक ट्रेन संख्या 04063 गोंडवाना एक्सप्रेस से मथुरा जाने के लिए रेलवे स्टेशन पर पहुंचा था। यात्रा शुरू होने से पहले ही इस यात्री की एंटीजन जांच में वह पॉजिटिव पाया गया। उसके बाद उसे यात्रा से रोककर आरटीपीसीआर टेस्ट के लिए भेजा गया। इस घटना ने एक बार फिर रेलवे स्टेशन पर बरती जा रही लापरवाही की पोल खोल दी है। आरटीपीसी आर -एंटीजन टेस्ट के लिए मनपा द्वारा नियुक्त स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि रेलवे स्टेशन पर कई दिनों तक यात्रियों की आरटी पीसीआर-एंटीजन जांच बंद थी। इस दौरान कितने कोरोना पॉजिटिव शहर में दाखिल हुए और कितनों ने यात्रा के दौरान अन्य लोेगों को संक्रमित किया, इसकी खोज-खबर तक नहीं ली गई।

नागपुर रेलवे स्टेशन पर उतरने वाले यात्रियों की आरटीपीसीआर टेस्ट रिपोर्ट की जांच नहीं की जा रही, लेकिन बगैर मास्क नजर आने वाले यात्रियों से दंड वसूलने के मामले में रेलवे प्रशासन बेहद मुस्तैद है। कोविड-19 नियमों का उल्लंघन करने वालों से वसूले गए दंड का आंकड़ा यही दर्शाता है। मध्य रेलवे द्वारा विगत 9 माह में कुल 25610 यात्रियों को कोविड-19 नियमों का उल्लंघन करने के आरोप में दंडित किया गया है। इस प्रकार दंड से रेलवे ने लगभग 60 लाख रुपए अर्जित किए हैं। रेलवे स्टेशन पर अथवा ट्रेन में बगैर मास्क नजर आए 20570 यात्रियों से 34 लाख 74 हजार रुपए व कोविड-19 दिशा-निर्देशों का उल्लंघन करने वाले 5040 यात्रियों से 25 लाख 20 हजार रुपए जुर्माना वसूला जा चुका है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.