- Breaking News, क्राईम खबर , नागपुर समाचार

नागपुर : नकली नोट चलाने वाले गिरोहों का पर्दाफाश

6 गिरफ्तार, 8.24 लाख का माल बरामद 

नागपुर : गणेशपेठ पुलिस ने जाली नोट चलाने वाले एक बड़े गिरोह को पकड़ा है. इस गिरोह के 6 सदस्यों को गिरफ्तार कर उनके पास से 8.24 लाख का माल बरामद किया गया है. काफी समय से सक्रिय इस गिरोह से पूछताछ में कई राज सामने आ सकते है. आरोपियों में जावेद सैयद हुसैन सैयद (27), शेख समीर शेख सलीम (27), मिर्जा समीर बेग सरफराज बेग (30), नीलेश शालीकराम मोहारिया (31), अब्दील आदिल अब्दुल वहाब (25) तथा अब्दुल तौसीफ अब्दूल कलीम (21) हैं. पुलिस को महाल के तिलक पुतला के पास दो युवकों के जाली नोटों के साथ आने का पता चला था.

इसके आधार पर पुलिस ने वहां दबिश दी तो जावेद सैयद तथा शेख समीर मिल गए. उनकी तलाशी लेने पर 100 रुपए के 102 नोट मिले. नोटों की जांच करने पर सभी एक ही क्रमांक के होने का पता चला. पहली नजर में ही पुलिस को नोट जाली होने का संदेह हो गया. इसके बाद नोट, एक्टिवा और मोबाइल बरामद करके आरोपियों को हिरासत में ले लिया गया. इसके बाद पुलिस दोनों के साथियों की खोज में जुट गई. उसने अमरावती सहित कई स्थानों पर दबिश देकर पूरे रैकेट को गिरफ्तार कर लिया.

इस रैकेट के सूत्रधार आदिल और तौसिफ है. दोनों अमरावती के निवासी हैं. वह कलर प्रिंटर की मदद से जाली नोट तैयार करते थे. ताजाबाद निवासी जावेद सैयद शराब तस्कर है. वह मूलतः चंद्रपुर का निवासी है. पहले यहां से चंद्रपुर में शराब की तस्करी करता था. ताजाबाद निवासी शेख समीर ऑटो डील और डेकोरेशन का काम है. जावेद के संपर्क में आने के बाद से समीर भी शराब तस्करी करने लगा. मूलतः अमरावती निवासी अब्दुल आदिल और अब्दुल तौसीफ भी ऑटो डील की आड़ में शराब की तस्करी करते है. शराब तस्करी के धंधे से ही चारों एक-दूसरे के संपर्क में आए थे। इसके बाद आदिल और तौसिफ ने जावेद तथा समीर को बताया था कि वह जाली नोटों का भी काम करते है. उन्होंने जावेद और समीर को भी इस गिरोह में शामिल कर लिया. इसके बाद से आदिल और तौसिफ जाली नोट छापकर जावेद, समीर और अन्य साथियों की मदद से चलाने लगे.

इस पूरी कार्यवाही को डीसीपी लोहित मतानी और वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक भारत शिरसागर के मार्गदर्शन में सहायक पुलिस निरीक्षक रियाज मुलानी, पुलिस हवलदार पंकज बोराटे, सिपाही पंकज मानेकर, प्रशांत गजभिए, अंकुश चौधरी, योगेश प्रवीण, राजेश यादव व सचिन खान ने मिलकर अंजाम दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.