- Breaking News, नागपुर समाचार

अंतिम क्षणों में इलाज बढा़ रहा मृत्यू आकड़ा, समीक्षा रिपोर्ट में खुलासा

नागपुर : भय या लापरवाही के चलते कई लोग कोरोना टेस्ट के लिए आगे नहीं आ रहे हैं. यहां तक कि लक्षण दिखाई देने के बाद भी उपचार नहीं ले रहे हैं. कुछ निजी अस्पतालों में तो उपचार कर रहे हैं, किंतु निजी अस्पताल मनपा को इसकी जानकारी नहीं दे रहे हैं. इसके अलावा अधिक त्रासदी होने के बाद अंतिम क्षणों में टेस्ट के लिए आते हैं. अंतिम क्षणों में उपचार के लिए भागा-दौड़ी होने के कारण ही कोरोना से मृत्यु का आंकड़ा बढ़ने का खुलासा मनपा के स्वास्थ्य विभाग ने मृत्यु समीक्षा की रिपोर्ट में किया.

हर दिन 5,000 टेस्ट का लक्ष्य… 

मनपा मुख्यालय के कोरोना वार रूम में हुई चर्चा के दौरान मुंढे ने कहा कि यदि मृत्यु के आंकड़े पर नियंत्रण पाना हो, तो टेस्ट लक्षण दिखाई देने वाले व्यक्ति द्वारा तुरंत जांच करानी होगी. जांच में पॉजिटिव पाए जाते ही तुरंत उपचार संभव है. जिसके लिए मनपा की ओर से 21 स्थानों पर टेस्ट की व्यवस्था की गई है, हर दिन 5,000 टेस्ट करने का लक्ष्य रखा गया है. इस तरह के प्रयासों से मृत्यु दर पर नियंत्रण पाया जा सकेगा. मुंदे ने कहा कि जिस व्यक्ति में कोरोना के लक्षण दिखाई दे या लक्षण न होने के बावजूद यदि पॉजिटिव मरीज के सम्पर्क में आते हैं, तो तुरंत समीप के कोरोना टेस्ट सेंटर में जाकर टेस्ट कराना चाहिए. इससे संक्रमित मरीज को खोजने में सुविधा होगी. मनपा अब अधिक टेस्ट कराने के लिए तैयार है, जिसका लाभ लेने की अपील भी मुंढे ने की.

निजी अस्पताल छिपा रहे जानकारी… 

रिपोर्ट के अनुसार लगभग 50 से 60 प्रतिशत इसी तरह के मामले उजागर हुए हैं. संक्रमण से जांच होने तक की स्थिति को संबंधित व्यक्ति द्वारा गंभीरता से लेकर यदि तुरंत उपचार कराया जाता है, तो मरीज ठीक होकर वापस लौट रहे हैं. रिपोर्ट में स्वास्थ्य विभाग की ओर से बताया गया कि लोगों को परेशानी होने के बाद लक्षण दिखाई देते ही निजी अस्पताल का रुख करते हैं. वहां उपचार लेते हैं, लेकिन मनपा के नियंत्रण कक्ष या स्वास्थ्य विभाग को जानकारी साझा नहीं करने के मामले उजागर हो रहे हैं. जानकारी छिपाए जाने के कारण भी कोरोना से मृत्यु होने का कारण बना हुआ है. वास्तविक रूप में बाधित की ओर से नियंत्रण कक्ष को जानकारी देना अनिवार्य है. निजी अस्पतालों ने भी मनपा को जानकारी देना बंचनकारक है ऐसा नहीं करने पर आपति व्यवस्थापन कानून और संक्रमण रोग नियंत्रण कानून अंतर्गत अस्पताल पर कार्रवाई होने की चेतावनी मनपा आयुक्त मुंढे ने दी.

Leave a Reply

Your email address will not be published.