- Breaking News, नागपुर समाचार

लोग कोरोना जांच करवाने सामने आए – पालकमंत्री डॉ नितिनजी राऊत

नागपुर : कोरोना के बढ़ते प्रसार को देखते हुए लोगों को बिना घबराए खुद आकर अपनी जांच कराना जरूरी है. कोरोना की चेन को ब्रेक करने के लिए समय पर जांच व उपचार की जरूरत है. यह कहना है पालकमंत्री नितिन राऊत का. वे विभागीय आयुक्त कार्यालय में इस संदर्भ में आयोजित बैठक में बोल रहे थे. बैठक में आयुक्त संजीव कुमार, पुलिस आयुक्त बी.के उपाध्याय, मनपा आयुक्त तुकाराम मुंढे, जिलाधिकारी रविंद्र ठाकरे, एसपी राकेश ओला, सीईओ योगेश कुंभेजकर, उपसंचालक डा. संजय जायस्वाल, मेयो के डीन डा. अजय केवलिया, मेडिकल के डा. फजल, जिला शल्य चिकित्सक डा. देवेन्द पातुरकर उपस्थित थे.

राऊत ने कहा कि : लोगों को स्वयं आगे आकर जांच कराना आवश्यक है इसकेलिए प्रत्येक पुलिस थाना अंतर्गत जो शांति समितियां हैं वे कोविड दक्षता समिति केरूप में काम करें. पालकमंत्री ने कहा कि कोरोना के बढ़ते प्रसार को देखते हुए मरीजों को बेड सहित आवश्यक सुविधा मिलना चाहिए. प्रशासन व स्वास्थ विभाग उत्तम कार्य कर रहा है. लेकिन नागरिकों में कोविड के संदर्भ में डर या फिर उदासीनता का वातावरण नजर आ रहा है. इसे टालने के लिए नागरिकों को खुद आगे आकर जांच करने की जरूरत है. दक्षता समिति के सदस्य कोविड जांच के लिए नागरिकों को प्रोत्साहित करने का कार्य करेंगे तो नियंत्रण में मदद मिलेगी. पुलिस विभाग के कुछ अधिकारी और कर्मचारियों को पाजिटिव आने पर उन्होंने चिंता भी व्यक्त की. पुलिस के लिए कोविड समर्पित हास्पिटल स्थापित करने का निर्देश उन्होंने दिया.

राऊत ने कहा कि : मेयो व मेडिकल में कोविड मरीजों केउपचार की सारी सुविधाएं उपलब्ध हैं, इसकी जानकारी नागरिकों को देने के लिए एक सेंटर कंट्रोल रूम तैयार करें, ग्रामीण भागों से आने वाले मरीजों को उचित सुविधा देने केसाथ ही जिले में मृत्युदर पर नियंत्रण के लिए प्रभावी उपाययोजना करने का निर्देश दियाय प्लाज्मा बैंक तैयार करने केलिए दानदाताओं प्रोत्साहित करने का भी निर्देश दिया. बाजारों में व दूकानों में भीड़ को रोकने के लिए जनजागृति करने का भी निर्देश उन्होंने दिया.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.