- धार्मिक , नागपुर समाचार

१० अप्रैल को रामनवमी पर श्री पोद्दारेश्वर् राम मंदिर, श्रीराम जन्मोत्सव शोभायात्रा समिति, नागपुर द्वारा ११ हजार दीपोकों से सजाया जाएगा राम झूला।  भव्य रूप से मनाया जाएगा श्रीराम जन्मोत्सव। पत्रकार सभा मे दी जानकारी।

नागपुर:- नागपुर नगरी की पहचान बन चुकी श्रीराम जन्मोत्सव शोभायात्रा शहर के श्रद्धालुजनो एवं
विभिन्न संस्थाओं के सहयोग से ५३ वर्षों तक (सन २०१९ तक) अखंड रूप से निकलती रही, लेकिन
वर्ष २०२० तथा २०२१ में कोरोना महामारी की परिस्थिति में जन-स्वास्थ्य को देखते हुए स्थगित रही।
इस वर्ष भी आयोजन के प्रति उत्साह व उत्सुकता के बीच पहले की तरह विशाल रुप मे न सही, लघुरुप में इसे निकालने के सुझाव भी आये परंतु मार्च के तृतीय सप्ताह तक भी कोरोनाजन्य प्रतिबंध पूरी तरह शिथिल नहीं हए। पूरी तैयारी होकर ऐसी स्थिति में शोभायात्रा जनता की आकांक्षाओं के अनुरुप आनंददायी नहीं हो सकती थी अतः समिति ने विचार विमर्श एवं गंभीर चिंतन के बाद इस वर्ष शोभायात्रा स्थगित रखने का भारी मन से क्षमायाचना एवं खेदपूर्वक निश्चय किया।
यह भी निश्चय हुआ कि मंदिर परिसर में परंपरागत रुप से चल रहे आयोजन उत्साहपूर्वक किये जावें। संयोगवश आगामी वर्ष ४ मार्च २०२३ को (पंचाग तिथिः फाल्गुन शुक्ल द्वादशी संवंत २०७९) मंदिर की स्थापना को १०० वर्ष हो रहे हैं। श्री पोद्दारेश्वर राम मंदिर, श्रीराम जन्मोत्सव शोभायात्रा समिति ने शताब्दी वर्ष की श्रीरामनवमी की शोभायात्रा को पूरी शक्ति एवं उत्साह से आयोजित कर एक यादगार बनाने का भी अनुरोध सभी सहयोगी संस्थाओं से किया है।नव संवत्सर वर्ष २०७९ गुड़ी पाड़बा से प्रारंभ हो चुका है। एवं प्रतिदिन सायं ७ से १० भजन संध्या में नगर के प्रसिद्ध गायकों द्वारा संगीतमय भजन प्रस्तुत किये जा रहे हैं।
अब तक ता.२ अप्रेल की सुन्दरकांड पाठ, ३ को श्याम शर्मा एवं हरि गुल्हाने, ता. ४ को पंकज उपाध्याय एवं उज्वल खाकोलिया ता. ५ तो प्रीतम बतरा तथा रिपू घई ‘चंचल’, ता. ६ को श्रीमती कृष्णप्रिया तथा श्रीमती कोमल निनावे एवं ता. ७ को राम झाम, श्याम तापड़िया तथा शुभम् मणियार के भजनों की भजन-संध्या के कार्यकम हो चुके हैं।
                         आज ता.८ को कु. खुशी पांडे तथा रोहित मिश्र तथा कल ता. ९ को “सुरश्री” डॉ. गोपाल अग्रवाल (टी.वी. कलाकार), श्रीमती स्मिता गणुवाला एवं कमलेश पांडे द्वारा भजन संध्या होगी। श्री रामनवमी दि. १० अप्रेल २०२२ को प्रातः ४ बजे उत्थापन, मंगलाआरती के पश्चात वैदिक मंत्रों से भगवान का अभिषेक होकर ६ बजे श्रृंगार आरती होगी। नवरात्र में नगर में विभिन्न क्षेत्रों में निकल रही प्रभात फेरी दल मंदिर में पधारेंगे। प्रातः ९ से १० तक श्री रामकृष्ण मठ संकीर्तन मंडल द्वारा श्री रामनाम संकीर्तनम होगा। प्रातः १० से १२ तक नगर के गायकों के साथ सामूहिक रुप से हरे राम … हरे कृष्ण महामंत्र का संकीर्तन होगा। मध्यान्ह ठीक १२ बजे जन्मोत्सब की महाआरती होगी। बजरिया महिला समाज की बहनें बधाई-गीतों का गायन करेंगी तथा पंजीरी-प्रसाद का वितरण होगा। इस वर्ष श्री ठाकुरजी की नई पोशाक श्री कमलकिशोर हरकचंद लाहोटी परिवार द्वारा भेंट की गई है।
मंदिर भवन की बाहरी विद्युत सजावट श्री अशोक रामस्वरुपजी गोयल के सौजन्य से होगी। मंदिर सभा मंडप की सुगंधित पुष्पों की सजावट सेवा श्री हर्ष ओमप्रकाशजी अग्रवाल की ओर से होगी। श्री अशोककुमार भरतकुमार करवा परिवार की ओर से नये मुकुटों से श्रृंगार होगा।
विशेष आकर्षण इस वर्ष राम झूला का सायं ७ से ११ हजार दीपकों से सजाया जावेगा। इस सेवा में सहभागी होने के इच्छुक भाविक एवं संस्थाएँ सायं ५ से रात्रि ९ के बीच मंदिर में पुनीत पोद्दार से
संपर्क कर सकते है यह अनुरोध आयोजकों द्वारा किया गया है। 
              आयोजक समिति का विनम्र अनुरोध
आयोजकों द्वारा भक्तजनों से श्री रामनवमी के दिन प्रातः अपने निवास पर केसरिया ध्वज फहराने तथा सायंकाल अपने द्वार पर दीपक-सजावट करने का अनुरोध किया गया है। झंडा-टोपी की लागत मूल्य पर बिक्री व्यवस्था मंदिर में नित्य सायं ७ से रात्रि ९ तक श्री रमेश राजोरिया द्वारा हो रही है।
श्री रामनवमी दिन मंदिर में दर्शन एवं प्रसाद वितरण प्रातः ६ बजे से देर रात तक होता रहेगा। मंदिर का शताब्दी महोत्सव
आगामी वर्ष होनेवाले मंदिर के शताब्दी वर्ष के कार्यक्रमों में धार्मिक उत्सव, विद्वानों के प्रवचन, महायज्ञ इत्यादि के साथ समाजोपयोगी सेवा उपक्रमों यथा रोग निदान चिकित्सा शिविर, रक्तदान शिविर, विद्यार्थियों एवं महिलाओं के जीवन में उपयोगी मार्गदर्शन, कॅरिअर गायडेन्स आदि के आयोजन विचाराधीन हैं। इस संबंध में सहयोगजिनों की एक सभा इस वर्ष श्री रामनवमी के पश्चात आमंत्रित कर उनके सुझाव एवं मार्गदर्शन प्राप्त किये जायेंगे।
          यह जानकारी पत्रकार सभा में मन्दिर के पदाधिकारियों ने दी पत्रकार सभा में पुनीत पोद्दार, रामकृष्ण पोद्दार, मन्दिर के ट्रस्टी सिताराम डांढनिया, पूर्व महापौर दयाशंकर तिवारी, जयंत हरकरे, राजेन्द्र दिवे, सविता कुलकर्णी, सुरेश अग्रवाल उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.