- Breaking News, कोविड-19, नागपुर समाचार

नागपुर : 101 वर्ष की तारादेवी बनी कोरोना योध्दा

नागपुर : महाराष्ट्र में कोरोना का संकट हर दिन बढ़ते जा रहा है. जहां नवयुवक कोरोना संक्रमण से पीड़ित हो रहे है. वहीं अभी तक कई लोग मौत के मुंह में समाए है. इस बीच शहर के जलालपुरा पत्थर फोड़ दरवाजा महल निवासी 101 वर्षीय तारादेवी देवी प्रसाद कक्कड़ ने कोरोना संक्रमण से लड़ते हुए मात पाई है. सही मायने में वे कोरोना योद्धा की तरह लड़ी है. तारादेवी का 108 लोगों का भरापुरा परिवार है. जिसमें पुत्र, पोते, पडपोते आदि शामिल है. कोरोना का संक्रमण उनके घर भी पहुंचा. 

तारादेवी के पुत्र शंकरलाल जो इतवारी सराफा बाजार कक्कड़ ज्वैलर्स के संचालक है. उन्हें कोरोना का संक्रमण हो गया. वे संक्रमित होने पर उनका संक्रमण धीरे-धीरे घर में बढ़ने लगा. घर में पुरा परिवार कोरोना से पॉजिटीव हो गया. इस घर में सबसे उम्रदराज 101 वर्षीय तारादेवी भी कोरोना से संक्रमित हो गई. उन्हें एक निजी अस्पताल में भर्ती किया गया. उस समय तारादेवी की हालत गंभीर थी. परिवार के सभी सदस्यों को अनहोनी की आशंका हुई.

लेकिन तारादेवी ने गरम पानी पीना शरू किया. हर दिन में चार बार भाप लेती थी. हल्दी का पानी पीती थी. इसके अलावा मल्टीविटामिन की गोलियां भी उन्होंने खाई. और इस सब पर मात करते हुए तारादेवी एक सप्ताह के अंदर ही स्वस्थ हो गई. उनके बाद परिवार के सभी सदस्या भी उससे प्रेरित होकर कोरोना संक्रमण से लड़ते हुए स्वस्थ हो गए. तारादेवी का कहना है कि हिम्मत हो तो बड़े से बड़े संकट को भी मात दे सकते है. तारादेवी के बड़े पोते गोपाल कक्कड़ ने बताया कि इस महामारी से लड़ते हुए पूरे परिवार ने निजातहपाई है.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.