- राष्ट्रीय

विवाह के दूसरे ही दिन ड्यूटी पर पहुंची महिला एलआरडीकर्मी।

 

अहमदाबाद : (मोरबी) जिले के वांकानेर तहसील थाने में कार्यरत महिला एलआरडी (लोक रक्षक दल) कर्मचारी ने अपने विवाह के दूसरे ही दिन ड्यूटी पर पहुंचकर अपनी फर्जनिष्ठा निभाई।
वांकानेर तहसील थाने में कार्यरत एलआरडी प्रफुलाबा (पूजाबा) हसुभा परमार का विवाह पिछली 17 मई को टंकारा के आर्य समाज परिसर में मात्र 12 परिवारजनों की मौजूदगी में हुआ। हालांकि विवाह के बाद सामाजिक रीति-रिवाज व नए परिवार में जाने के कारण महिला पुलिसकर्मियों को सरकार की ओर से विवाह के लिए कुछ दिनों का अवकाश मिलता है।
इसके बावजूद महिला एलआरडीकर्मी पूजाबा ने कोरोना वायरस की महामारी के चलते घोषित किए गए लॉक डाउन मेें पुलिस की अपनी जिम्मेदारी के महत्व को समझकर सरकार की ओर से मिले अवकाश को स्वेच्छा से छोड़ दिए। उसने केवल विवाह के दिन एक ही दिन का अवकाश रखा और मेहंदी सूखे बिना ही विवाह के दूसरे दिन समय पर ड्यूटी निभाने के लिए वांकानेर थाने पर पहुंच गई और निजी जीवन के मुकाबले अपने फर्ज को प्राथमिकता दी। थाने के उप निरीक्षक आर.पी. जाड़ेजा व स्टाफ ने पूजाबा का स्वागत किया और कोरोना महामारी के समय सच्चे अर्थ में कोरोना वॉरियर साबित हुई महिला एलआरडीकर्मी की कत्र्तव्यनिष्ठा की सराहना की।

Leave a Reply

Your email address will not be published.