- नागपुर समाचार, विदर्भ

नागपुर समाचार : गृहमंत्री अनिल देशमुख ने बैठक में दिए कड़े निर्देश, अफसरों पर भी कार्रवाई कर, जांच के लिए नाका बानाए, 177 के खिलाफ FIR

नागपुर समाचार : गृह मंत्री अनिल देशमुख ने संभाग में रेत व अन्य गौण खनिज के अवैध परिवहन पर रोक लगाने के लिए राजस्व, आरटीओ व पुलिस विभाग को संयुक्त रूप से कार्रवाई करने का निर्देश दिया. उन्होंने कहा कि अगर रेत माफिया के साथ किसी भी विभाग के अधिकारी व कर्मचारियों की मिलीभगत पायी जाती है तो उस पर भी कार्रवाई करें. उन्होंने अवैध परिवहन पकड़े जाने पर केवल जुर्माना लेकर गाड़ियों को छोड़ने के अलावा गाड़ियों को जब्त करने का निर्देश दिया. पूरे नागपुर संभाग में गौण खनिज के अवैध परिवहन पर नियंत्रण के लिए उन्होंने विभागीय आयुक्त कार्यालय में आलाधिकारियों की बैठक ली. अन्य जिलों के जिलाधिकारियों आदि से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से संवाद साधा. बैठक में पालक मंत्री नितीन राऊत, चंद्रपुर के पालक मंत्री विजय वडेट्टीवार, खनिकर्म महामंडल के अध्यक्ष आशीष जायसवाल, विभागीय आयुक्त संजीव कुमार, पुलिस आयुक्त भूषणकुमार उपाध्याय, विशेष पुलिस महानिरीक्षक मल्लिकार्जुन प्रसन्ना, जिलाधिकारी रवींद्र ठाकरे, मुख्य कार्यकारी अधिकारी योगेश कुंभेजकर, ग्रामीण पुलिस अधीक्षक राकेश ओला व उपायुक्त राजस्व सुधाकर तेलंग उपस्थित थे.

177 के खिलाफ FIR

संभाग में जनवरी 2019 से मार्च 2020 के दौरान अवैध परिवहन के 2121 मामले पकड़े गए जिनमें 20 .52 करोड़ का दंड वसूला गया. दूसरी तरफ 177 लोगों के खिलाफ पुलिस में मामला दर्ज किया गया और 102 लोगों की गिरफ्तारी की गई.

जांच के लिए नाका बनाएं

  • गृह मंत्री ने भिवापुर से उमरेड के बीच नीलज फाटाा के पास जांच के लिए नाका बनाने का निर्देश दिया. साथ ही सभी टोल नाकों पर सीसीटीवी कैमरों से रेत का अवैध परिवहन करने वालों पर नजर रखने का आदेश दिया.
  • उन्होंने रेत की आफसेट दर के संदर्भ में नीति बनाने का निर्देश भी दिया. उन्होंने कहा कि जिले में अवैध रेत परिवहन की शिकायतें बढ़ गई हैं.
  • राजस्व व पुलिस विभाग इसके खिलाफ कड़े कदम उठाएं. पालक मंत्री राऊत ने कहा कि रेत के संदर्भ में तेलंगाना मॉडल के अध्ययन की जरूरत है.
  • उपविभागीय अधिकारी की अध्यक्षता में गौण खनिज नियंत्रण समिति हर उपविभाग में है, लेकिन इस समिति के सक्रिय होने की जरूरत है. वडेट्टीवार ने भी कुछ सुझाव रखे व निर्देश दिया.

वेकोलि खदान की रेत दें

आशीष जायसवाल ने कहा कि सरकार ने घरकुल के लिए ब्रास रेत देने का आदेश 12 फरवरी को जारी किया था, जिसके अनुसार रेत घाट आरक्षित कर उस निर्णय को अमल में लाने की मांग उन्होंने रखी. वेकोलि के खदान से निकलने वाली रेत शहर के घरकुल को दी जाती है, इसे संपूर्ण जिले के लिए देने की मांग भी उन्होंने की. बैठक में वीसी के माध्यम से भंडारा जिलाधिकारी एम.जे. प्रदीप चंद्रन, एसपी अरविंद सालवे, गोंदिया जिलाधिकारी कादंबरी बलकवडे, एसपी मंगेश शिंदे, जिलाधिकारी कुणाल खेमनार, एसपी महेश्वर रेड्डी गड़चिरोली जिलाधिकारी दीपक सिंघला, एसपी शैलेश बलकवडे, खनिकर्म अघिकारी, आरटीओ अधिकारी उपस्थित थे.

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.